18-10-2017 | director.dgr@icar.gov.in

भाकृअनुप - मूँगफली अनुसंधान निदेशालय ICAR - Directorate of Groundnut Research

Dgr

Dgr

Dgr

Dgr

गिरनार पत्रिका में प्रकाशन के लिए लेखकों के लिए दिशा-निर्देश”

“गिरनार पत्रिका में प्रकाशन के लिए लेखकों के लिए दिशा-निर्देश”

भाकृअनुप-मूँगफली अनुसंधान निदेशालय, जूनागढ़ द्वारा हिंदी भाषा में ‘गिरनार’ वार्षिक पत्रिका का प्रकाशन प्रारंभ किया गया है जिसमें सभी रचनाएँ जैसे आलेख, कहानियां, कवितायेँ इत्यादि प्रकाशित की जाती है l
1.      गिरनार पत्रिका में प्रकाशन के लिये लेखकगण आर्थिक, सामाजिक, तथा कृषि सम्बंधित विभिन्न विषयों पर आलेख भेज सकते है l
2.      आलेख के लिए निम्नलिखित दिशा निर्देश है:
क.    आलेख में सामग्री को इस क्रम में व्यस्थित करें: शीर्षक, लेखकों के नाम व पते, संवादी लेखक का ई-मेल, परिचय, परिचर्चा, निष्कर्ष/सारांश, आभार (यदि आवश्यक हो तो), एवं सन्दर्भ l
ख.   परिचय: परिचय में लगभग 250-300 शब्द होने चाहिये तथा इसमें विषय की सामान्य जानकारी के साथ इसके महत्त्व तथा उपयोग के बारे में लिखें
ग.    परिचर्चा: इस भाग में लगभग 1500-2000 शब्द होने चाहिये, जिसमें सारणी, ग्राफ इत्यादि सम्मिलित हैl
घ.    निष्कर्ष: इस भाग में लगभग 100-150 शब्द होने चाहिए, तथा साथ ही विषय-वास्तु का भावी परिपेक्ष भी सम्मिलित हो l
ङ.      सन्दर्भ: इस सूची में किसी भी सन्दर्भ का अनुवाद करके ना लिखें, अर्थात संदर्भो को उनकी मूल भाषा में ही रहने दें l यदि सन्दर्भ हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषाओँ के हो तो पहले हिंदी वाले सन्दर्भ लिखें तथा इन्हें हिंदी वर्णमाला के अनुसार, तथा बाद में अंग्रेजी वाले सन्दर्भ अंग्रेजी वर्णमाला के अनुसार सूचीबद्ध करें l
च.    सारणी तथा चित्र: सारणियों तथा चित्रों को उनके शीर्षक के साथ आलेख में क्रमांकित करके यथास्थान पर सम्मिलित करें तथा पाठ्य में उल्लिखित करें l
3.      आलेख किसी अन्य स्रोत द्वारा पहले प्रकाशित नहीं होना चाहिए तथा ना ही अन्य भाषा में प्रकाशित आलेख का अनुवाद होना चाहिये l
4.      इस पत्रिका में प्रकाशन के लिए कवितायेँ तथा कहानियां भी भेज सकते है, बशर्ते ये रचनायें स्वयं द्वारा रचित होनी चाहिये l
5.      आपकी रचनायें यूनिकोड फॉन्ट में लिखकर भेजें, ताकि वो आसानी से किसी भी कंप्यूटर में पढी जा सके व सम्पादित की जा सके l
6.      संपादन व सुधार का अंतिम अधिकार संपादकगण के पास सुरक्षित है l
7.      प्रकाशन के लिए भेजी गयी रचनाओं पर अंतिम निर्णय प्रकाशक यानी निदेशक, भाकृअनुप-मूँगफली अनुसंधान निदेशालय, जूनागढ़ का रहेगा l
8.      लेखकगण अपनी रचनाएँ, girnarpatrika@nrcg.res.in पर ईमेल द्वारा भेज सकते है l
9.      पत्र व्यवहार के लिए पता: निदेशक, भाकृअनुप-मूँगफली अनुसंधान निदेशालय, ईवनगर मार्ग, पो. बो. नं. 05, जूनागढ़ – 362 001, गुजरात l

News & Events

slider13348
37th Foundation Day
slider13350
Annual Group meeting
slider13351
Krishi Unnati Mela
slider13353
International day of Yoga
slider13338
Farmers’ training
Accessibility